Peepal ke Achuk Upay मात्र एक शनिवार करें यह उपाय और जीवन में खुद देखे चमत्कार

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आप सभी का एक बार फिर से दोस्तों अगर आप अपनी लाइफ में कुछ नया सीखना चाहते हैं दोस्तों पीपल एक ऐसा पौधा है जिसकी पूजा से बहुत ही चमत्कारी और बहुत ही शीघ्र लाभ माना गया है देखा गया है ऐसा भी देखा गया है कि कोई व्यक्ति बहुत समय से बीमार है बहुत परेशान है और वह पीपल में जल अर्पित करते हैं तो बहुत ही शीघ्र उनको दवाइयों का लाभ होता है और वह स्वस्थ हो जाते हैं आप आर्थिक

रूप से परेशान है शारीरिक रूप से परेशान है मानसिक रूप से आप बहुत अधिक परेशान है तनाव में रहते हैं चिंता में रहते हैं कर्ज में डूबे हो किसी भी प्रकार की आपकी परेशानी हो अगर आप पीपल की पूजा करते हैं पीपल में जल देते हैं दीप दान करते हैं परिक्रमा करते हैं तो आपके जीवन की समस्त समस्याएं बहुत ही शीघ्र दूर होती है

भगवान श्री हरि विष्णु का साक्षात नारायण का ही स्वरूप माना गया है इस वृक्ष को और और भगवान श्री कृष्ण ने स्वयं भगवत गीता में यह बात कही भी है कि वृक्षों में मैं पीपल हूं तो जब हम भगवान श्री हरि विष्णु की पूजा करते हैं या फिर हम पीपल वृक्ष की पूजा करते हैं तो बहुत ही शीघ्र हमें लाभ प्राप्त होता है पीपल के वृक्ष में भगवान श्री हरि विष्णु के अलावा 33 कोटि देवी देवताओं का भी वास माना गया है और जो हमारे पितृ होते हैं पूर्वज होते हैं उनकी दिव्य आत्माएं भी पीपल के वृक्ष में निवास करती है तो जब हम पीपल की पूजा करते हैं बहुत ही शीघ्र हमें चमत्कारी रूप से लाभ प्राप्त होता है

कारण क्या है क्योंकि इस एकमात्र वृक्ष के पूजन से सभी देवी देवताओं का आशीर्वाद हमें प्राप्त होता है भगवान श्री हरि विष्णु की कृपा हमें प्राप्त होती है और हमारे पूर्वज यानी जो हमारे पित्र होते हैं उनका भी आशीर्वाद हमें प्राप्त हो जाता है क्योंकि मात्र इस वृक्ष के पूजन से हम सब की पूजा एक साथ कर लेते हैं तो सबकी कृपा भी हमें बहुत ही शीघ्र मिल जाती है आज की वीडियो में हम आपसे बात करने वाले हैं एक बहुत ही चमत्कारी और अचूक उपाय के बारे में

दोस्तों शनिवार को सूर्यास्त के बाद यह उपाय करना है और अगर आप शनिवार के दिन यह उपाय करते हैं तो मात्र एक शनिवार इस उपाय को करने से आपकी समस्त कामना पूर्ण हो जाती है किसी भी कामना से आप यह उपाय करेंगे आपकी वह कामना अवश्य पूर्ण होगी अगर आप धन के लिए बहुत अधिक परेशान है आर्थिक रूप से आप बहुत अधिक परेशान है कर्ज में घिरे हो व्यापार में आपके लगातार घाटा होता जा रहा है

आपके ऊपर लोन या कर्ज लगातार चढ़ता जा रहा है नौकरी मिलने में समस्या आ रही हो अच्छी नौकरी पाना चाहते हैं तब भी आप इस उपाय को कर सकते हैं घर में बहुत अधिक कलह क्लेश रहता है खर्च अधिक है और धन का आगमन बहुत कम है तब भी आप इस उपाय को करें शीघ्र ही आपको लाभ होगा और कई बार ऐसा होता है कि आपके पास धन तो बहुत आता है लेकिन वह धन बेवजह के खर्चे में निकल जाता है या तो बीमारियों में या फिर आप ब्याज भर देते हैं या लड़ाई झगड़े कोर्ट कचहरी के चक्कर में आपके धन का खर्च हो रहा है

धन का सदुपयोग नहीं कर पाते हैं और जब भी आपको धन की आवश्यकता होती है आपको कर्ज लेना पड़ता है अगर आप इस समस्या से परेशान है मतलब धन के किसी भी प्रकार की समस्या से आप परेशान हो घर में कलह क्लेश से परेशान हो तो इस उपाय को करें शीघ्र ही आपको लाभ होगा मां लक्ष्मी की अपार कृपा प्राप्त हो जाती है इस उपाय को करने से धन संचय भी होगा धन आगमन भी होगा व्यापार में भी आपको लाभ होगा और नौकरी की समस्याएं दूर होंगी बहुत ही अचूक उपाय है आजमाया हुआ उपाय है अगर आप विश्वास से करेंगे

आपको लाभ बहुत ही शीघ्र प्राप्त होगा और मात्र एक शनिवार यह उपाय करना है बस मन में विश्वास रखकर करें आपका कोई भी काम हो अवश्य बनेगा करना क्या है शनिवार के दिन शाम के समय सूर्यास्त के बाद यह उपाय आपको करना है तो शनिवार की शाम को आप किसी भी पुराने पीपल वृक्ष के नीचे जाएं पुराना पीपल वृक्ष मतलब कोई पीपल का नया पौधा नहीं होना चाहिए जैसे कि जितना वृक्ष पूजित होता है उतना अधिक हमें उससे लाभ प्राप्त होता है जैसे कि पीपल वृक्ष ऐसा चाहिए जिसकी पूजा निरंतर होती हो जिस पर लोग पूजा करते हो ऐसे पीपल के वृक्ष के पास आपको जाना है

और शाम के समय जाना है कुछ सामग्री आपको चाहिए जब आप पीपल वृक्ष के नीचे जाते हैं तो थोड़ी सी रोली चाहिए और एक छोटा सा लाल कपड़े का टुकड़ा ले सकते हैं आप जैसे एक लाल रुमाल भी चलेगा जो भी आपके पास उपलब्ध हो ले लीजिए लाल कलावा चाहिए जो हम हाथ में बांधते हैं मौली जो पूजा के समय हाथ में बांधा जाता है उसे कलावा कहते हैं वह आपको चाहिए तो थोड़ा सा ज्यादा ले लीजिए उसका प्रयोग आपको वहां पर करना पड़ेगा इसके अलावा आपको चाहिए एक आटे का दीपक आप गाय का घी लेकर जाएं और उससे प्रज्वलित करें या फिर तील का तेल होना चाहिए सरसों के तेल से आज हम प्रज्वलित नहीं करेंगे

क्योंकि हम यह प्रयोग जो कर रहे हैं धनदायक प्रयोग कर रहे हैं मनोकामना पूर्ण करने के लिए यह प्रयोग किया जा रहा है आटे का दीपक जैसा कि आप सभी जानते हैं मनोकामना पूर्ति के लिए बहुत ही अचूक उपाय होता है आटे का दीपक अगर आप प्रज्वलित करें किसी भी कामना के लिए तो बहुत ही शीघ्र आपकी कामना पूर्ण हो जाती है तो हमें यह जो आटे का दीपक और जो भी सामग्री है

यह लेकर शाम के समय जाना है सूर्यास्त के समय यानी कि जब सूर्यास्त हो रहा हो उस समय हमें जाना है सूर्यास्त के बाद से लेकर आपको 8 बजे रात्रि तक पीपल की पूजा कर लेनी है इसके बाद आपको पीपल की पूजा नहीं करनी चाहिए पीपल वृक्ष के नीचे कभी कभी भी देर रात में नहीं जाना चाहिए तो 8 बजे से पहले पहले आपको यह उपाय कर लेना है इसके लिए आप समय पर पीपल वृक्ष के नीचे पहुंच जाए अब आपको करना क्या है सर्वप्रथम जब आप पीपल के नीचे जाएंगे तो आप पीपल देवता को पीपल वृक्ष को प्रणाम कीजिए उसके बाद सभी देवी देवताओं को प्रणाम कीजिए भगवान श्री हरि विष्णु को प्रणाम कीजिए नमस्कार कीजिए सभी जो हमारे पितृ पूर्वज होते हैं

उन सबको हृदय से नमस्कार कीजिए और इसके साथ ही आपको हनुमान जी को नमस्कार करना है शनिदेव को नमस्कार करना है शनिवार का दिन है तो शनिदेव को अवश्य नमस्कार करें और इसके साथ ही हनुमान जी की भी आपको आराधना करनी है आटे का दीपक जो आप लेकर गए हैं पीपल वृक्ष के नीचे पीपल वृक्ष की जड़ में जड़ के पास जला दीजिए उसके बाद आप एक बार हनुमान चालीसा का पाठ कर लीजिए हनुमान जी का ध्यान करके मन में हनुमान जी को स्मरण करते हुए एक बार हनुमान चालीसा का पाठ कीजिए और जब आपका पाठ पूरा हो जाता है

तब आपको पीपल का जो वृक्ष है उसमें एक पत्ता देखना है एक बड़ा पत्ता लगा हुआ ही पत्ता होना चाहिए पीपल का पत्ता आपको तोड़ना नहीं है वृक्ष में ही लगा रहे वह पत्ता और उसी पत्ते पर आपको जो आप रोली लेकर गए हैं आप इसे थोड़ा सा जल देकर आप उसे गीला कर लीजिए और उसके बाद आपकी मनोकामना उस पीपल पत्ते पर अपनी अनामिका उंगली से लिखनी है रोली में थोड़ा सा जल मिलाकर उसके बाद अपनी अनामिका उंगली से आपकी जो भी मनोकामना है जो भी आपकी इच्छा है जो भी परेशानी है

आपकी आप उस पर लिख दीजिए जैसे आपको व्यापार में वृद्धि चाहिए व्यापार में धन चाहिए व्यापार में लाभ चाहिए तो यह लिख सकते हैं नौकरी की समस्या है तो आप नौकरी लिख दीजिए और अगर आपको धन की समस्या है कर्ज की समस्या है जिस भी परेशानी से आप मुक्ति पाना चाहते हैं उस परेशानी को आपको उस पत्ते पर लिखना है इसलिए थोड़ा सा बड़ा पत्ता हो इस तरह से आपको पत्ता चुनना है पत्ता तोड़ना नहीं है यह आपको ध्यान रखना है जब आप अपनी मनोकामना लिख देते हैं

उसके बाद उसी पत्ते वाली डाली के ऊपर आपको सात बार जो आप कलावा लेकर गए हैं वो बांध देना है कलावे को सात बार घुमा दीजिए और बहुत ढीला बांधी ताकि पत्ता टूटे ना बहुत आराम से उसको बांध दीजिए उसके बाद जो बचा हुआ कलावा है उसे आप अपने दाहिने हाथ में बांध लीजिए सात बार लपेट लीजिए अगर थोड़ा सा ही कलावा हो तो उतना भी बांध सकते हैं लेकिन अगर आपके पास अधिक कलावा बचा हुआ है

तब सात बार अपने हाथ में भी घुमाकर बांध लीजिए इसके बाद आपको पीपल वृक्ष की छाया में ही बैठकर एक मंत्र का जाप करना है बहुत ही चमत्कारी मंत्र है अचूक मंत्र है नोट कर लीजिए हम स्क्रीन पर भी इसको आपको दे रहे हैं आप इस मंत्र को नोट कर लीजिए ओम ह्रीम वट स्वाहा ओम ह्रीम वट स्वाहा इस मंत्र का जप आपको पीपल वृक्ष की छाया में करना है पीपल वृक्ष की छाया में बैठकर जपा गया कोई भी मंत्र बहुत ही शीघ्र सिद्ध हो जाता है और बहुत ही शीघ्र आपकी कामना को पूर्ण कर देता है आप चाहे हनुमान चालीसा का पाठ करें सुंदरकांड का पाठ करें या फिर कोई भी पाठ कोई भी मंत्र अगर आपको करना हो तो अगर आप पीपल वृक्ष की छाया में बैठकर करते हैं

तो बहुत ही शीघ्र आपके मन की कामना पूर्ण हो जाती है पीपल वृक्ष के नीचे बैठकर छाया में बैठकर अगर हम अपने मन की कोई बात कहते हैं कोई समस कहते हैं तो उसका निवारण बहुत शीघ्र हो जाता है इसलिए आपको यह जो जप करना है वह पीपल वृक्ष की छाया में ही करना है अगर आप माला लेकर जाते हैं तो रुद्राक्ष की माला ले जाइए माला पर नहीं करना चाहते हैं आप ऐसे भी जैसे कि आधा घंटा या 45 मिनट जितना भी आपके पास समय हो अधिकाधिक संख्या में इस मंत्र का जप कर लीजिए अगर आपके पास माला नहीं है

तो और अगर आपके पास माला है तो 108 मनको की माला रुद्राक्ष की लेकर जाइए और तीन माला इस मंत्र का जप कर लीजिए इस प्रकार से आपको जाप करना है जाप जब आपका पूरा हो जाता है आप पीपल वृक्ष को प्रणाम करें सभी देवी देवताओं को प्रणाम करें अपने पितरों का आशीर्वाद लें और पितरों को हृदय से नमस्कार करें शनिदेव को प्रणाम करें हनुमान जी को प्रणाम करें सभी देवी देवताओं को जब आप प्रणाम करते हैं अपने मन की कामना भी वहां पर कहें कि हे पितृ देवता हे भगवान श्री हरि विष्णु या फिर हे हनुमान जी सभी देवी देवताओं का स्मरण करते हुए आपके मन में जो भी परेशानी हो जो भी आपकी इच्छा हो जरूर पीपल वृक्ष के नीचे कहनी चाहिए बहुत शीघ्र पीपल वृक्ष के नीचे कही गई कामना पूर्ण हो जाती है

और समस्या कोई भी हो बहुत शीघ्र उसका निवारण हमें मिल जाता है तो आपको करना क्या है सबको प्रणाम करने के बाद आप जो लाल कपड़ा लेकर गए हैं उस लाल कपड़े में पीपल की जड़ से चुटकी भर मिट्टी यानी एक चुटकी मिट्टी निकाल लीजिए मतलब थोड़ी सी मिट्टी आपको चाहिए आप उसे लाल कपड़े में रखकर लपेट लीजिए उस कपड़े को बांध दीजिए और फिर सभी देवी देवताओं को प्रणाम करते हुए अपने मन की कामना मन में रखकर भगवान श्री हरि विष्णु सहित सभी देवी देवताओं से कहने के बाद यह मिट्टी लेकर आपको अपने घर आ जाना है

घर में आप यह मिट्टी अपने धन रखने के स्थान पर रख दीजिए जहां पर भी आप धन रखते हैं या आपके पास अगर तिजोरी है तो तिजोरी में रख दीजिए व्यापार में अगर आप को नुकसान हो रहा है व्यापार के लिए कर रहे हैं तो आप यह जो मिट्टी है अपने व्यापार के गल्ले में रख दीजिए कहीं भी धन रखने के स्थान पर आपको यह मिट्टी रखनी है बहुत ही शीघ्र आपके जीवन में अगर धन की समस्या है तो उससे आपको छुटकारा मिल जाता है और जब धन घर में आता है आप पर मां लक्ष्मी की कृपा हो जाती है तो आपस में प्रेम व्यवहार भी बनता है घर में सद्भावना आती है कलह क्लेश सब दूर हो जाते हैं अगर धन का आगमन निरंतर घर घर में होने लग जाता है और धन घर में टिकने लग जाता है तो अब आपके

प्रश्न होंगे कि इस उपाय को हमें कब तक करना है देखिए इस उपाय को मात्र एक शनिवार ही हमें करना है सिर्फ एक शनिवार आप यह उपाय करेंगे घर में लाकर अपने धन रखने के स्थान पर वह मिट्टी रख देंगे तो इसके बाद चमत्कार आप स्वयं देखेंगे अगला जो आपका प्रश्न है कि इस मिट्टी को हमें घर में कब तक रखना चाहिए तो हमेशा रखे अपने घर में क्योंकि यह देव वृक्ष के नीचे की मिट्टी है ऐसी मिट्टी जैसे कि हम कहीं पवित्र स्थानों पर जाते हैं तो वहां से भी थोड़ी सी मिट्टी लाकर

हमें अपने घर में रखनी चाहिए तो यह देव वृक्ष है पीपल वृक्ष है उसके नीचे की मिट्टी है हमेशा आप अपने घर में रखें अपने धन रखने के स्थान पर रखें कभी भी आपको धन संबंधी समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा अगला जो आपका प्रश्न होगा इससे संबंधित कि क्या स्त्रियां इस उपाय को कर सकती है जी हां कोई भी इस उपाय को कर सकता है स्त्री हो पुरुष हो कोई भी इस उपाय को श्रद्धा से करें अगर स्त्रियां इस उपाय को कर रही है तो सिर्फ आपको यह ध्यान रखना है कि आप पीरियड्स की अवस्था में इस उपाय को

ना करें जब आप शुद्ध हो तभी इस उपाय को करें और जब आप यह उपाय करें आपको एक ही बात का ध्यान रखना है कि आप जब वह मिट्टी उठा रहे हो पीपल वृक्ष के नीचे से तो आपको कोई देखे नहीं कोई टोके नहीं चुपके से आपको मिट्टी उठानी है अगर आसपास लोग होते भी हैं तब इतनी सावधानी से आप मिट्टी उठाएं कि कोई आपको देखे नहीं या टोके नहीं बस अगर आप इस तरह से इस उपाय को कर लेते हैं यकीन मानिए बहुत ही चमत्कारी लाभ होता है इस उपाय को करने से पीपल का वृक्ष देव वृक्ष माना गया है श्री हरि विष्णु और सभी

देवी देवताओं का पितरों का वृक्ष माना गया है तो इसके नीचे की मिट्टी इतनी पवित्र है कि आपके मन की कोई भी इच्छा हो बहुत शीघ्र पूर्ण हो जाती है और बहुत जल्दी आपको चमत्कारी लाभ भी प्राप्त होता है

Leave a Comment